No icon

ऑस्ट्रेलिया के जंगल में आग से महीनों तक राहत के आसार नहीं, बस उम्मीद की एक किरण बाकी

मेलबर्न, रायटर्स। ऑस्ट्रेलिया के जंगलों में विकराल आग से केवल बारिश राहत दिला सकती है। लेकिन देश के मौसम विभाग के अनुसार अगले कुछ महीने में बारिश और ठंडे मौसम की संभावना नहीं है। ऐसे में आग से फिलहाल राहत के आसार नहीं है। 2019 में ऑस्ट्रेलिया के सबसे गर्म साल के रिकॉर्ड के बाद, ब्यूरो ऑफ मेटेरोलॉजी ने गुरुवार को कहा कि अगले कुछ महीनों में तापमान औसत से अधिक रहने की संभावना है।

ब्यूरो ने कहा कि देश के उत्तरी हिस्से में हल्की बारिश हो रही है, लेकिन यह दक्षिण-पूर्व में भड़की आग को बुझाने के लिए पर्याप्त नहीं है। ऑस्ट्रेलिया पिछले कई महीनों से इस भीषण आग से जूझ रहा है और तीन साल के सूखे ने  और गंभीर स्थिति पैदा कर दी है। विशेषज्ञ इसे जलवायु परिवर्तन का एक कारण बता रहे हैं। 

सितंबर से अबतक दक्षिण कोरिया इतना क्षेत्र जल चुका है

आग कितनी विकराल है इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि सितंबर से अबतक दक्षिण कोरिया इतना क्षेत्र जल चुका है। इसमें 26 लोगों और एक अरब जानवरों की मौत हुई है। इस आग से राहत केवल बारिश ही राहत दिला सकती है। ब्यूरो ने कहा कि अफ्रीका के हिंद महासागर में गर्म पानी और जलवायु परिवर्तन की वजह से 2019 ऑस्ट्रेलिया का सबसे गर्म और सबसे सूखा साल रहा।   

गर्म मौसम की वापसी के बाद आग से खतरा बढ़ा

ऑस्ट्रेलियाई अधिकारियों ने गुरुवार को देश के भारी आबादी वाले दक्षिण-पूर्व हिस्से में नई चेतावनी जारी की है। अधिकारियों ने लोगों से जल्द से जल्द इलाका खाली करने के लिए कहा है। गर्म मौसम की वापसी के बाद आग से खतरा बढ़ गया है। पिछले सप्ताह विक्टोरिया राज्य में जारी किए गए एक अलर्ट को दो दिन के लिए बढ़ा दिया गया है। पड़ोसी न्यू साउथ वेल्स राज्य में शुक्रवार को स्थिति बिगड़ने के आसार हैं। 

महिलाओं का फुटबाल मैच स्थगित 

खराब हवा की गुणवत्ता और बढ़ते तापमान की वजह से शुक्रवार को न्यूकैसल के लिए होने वाला महिला फुटबाल मैच स्थगित हो गया। न्यूकैसल और एडिलेड के बीच महिलाओं का डब्ल्यू-लीग मैच अब 1 फरवरी को खेला जाएगा। फुटबाल फेडरेशन ऑस्ट्रेलिया ने इसकी जानकारी दी। ऑस्ट्रेलिया में खेल संगठनों ने मौसम की स्थिति पर कड़ी नज़र रखी हुई है। पिछले महीने कैनबरा में एक पुरुष ट्वेंटी 20 बिग बैश क्रिकेट मैच को खराब हवा की गुणवत्ता के कारण नहीं हुआ था। 

Comment As:

Comment (0)